क्या किम जोंग उन की मृत्यु हो चुकी है, क्या उत्तर कोरिया अपने शासक की मृत्यु को छिपा रहा है, इसका जवाब हमें नहीं पता, हालांकि उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन के स्वास्थ्य को लेकर लगायी जा रहीं अटकलों के बीच उपग्रह से ली गयी तस्वीरों में संभवतः उनकी एक ट्रेन पिछले एक हफ्ते से देश के पूर्वी तट पर उनके परिसर में खड़ी हुई दिखायी दी है। किम के लंबे समय से जनता के बीच न दिखाई देने के कारण उनके स्वास्थ्य को लेकर अटकलें लग रही हैं। उत्तर कोरिया संबंधी मामलों के अध्ययन में विशेषज्ञता रखने वाली वेबसाइट ‘38 नॉर्थ’ ने उपग्रह से ली गयी तस्वीरें जारी कीं। ये तस्वीरें किम के स्वास्थ्य के बारे में कोई संकेत नहीं देतीं, लेकिन ये दक्षिण कोरिया की खुफिया समिति के इस बयान को बल देती हैं कि किम राजधानी प्योंगयांग के बाहर रह रहे हैं। सियोल लगातार यह कहता रहा है कि ऐसे कोई संकेत नहीं है कि किम का स्वास्थ्य खराब है।

आपको बता दे कि गत 15 अपै्रल को किम जोंग उन अपने दादा व उत्तर कोरिया के संस्थापक किम इल सुंग की 108वीं जयंती में आयोजित हुये समारोह में शामिल नहीं हुए थे, जिसके बाद से इन बातो को ओर अधिक बल मिलने लगा कि किम का स्वास्थ्य ठीक नहीं है। दरअसल किम के स्वास्थ्य का मामला काफी अहमियत रखता है, क्योंकि ऐसी चिंता है कि उनके गंभीर रूप से बीमार पड़ने या उनकी मौत होने से गरीब, परमाणु संपन्न देश में अस्थिरता पैदा हो जाएगी। वेबसाइट ने कहा कि ट्रेन की मौजूदगी उत्तर कोरियाई नेता के स्वास्थ्य के बारे में कोई संकेत नहीं देती है और न ही यह साबित करती है कि वह कहां हैं, लेकिन यह उन खबरों को बल देती है कि किम देश के पूर्वी तट पर रह रहे हैं। ‘38 नॉर्थ’ ने कहा कि तस्वीरों से पता चलता है कि ट्रेन 21 अप्रैल से पहले वहां पहुंची और 23 अप्रैल तक वहां थी।

किम जोंग उन का ब्रेन डेड?

दुनिया के सबसे रहस्यमय देशों में से एक उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन इन दिनों एक विला के अंदर बने अस्पताल में जिंदगी की जंग लड़ रहे हैं। कुछ मीडिया रिपोर्टों में यह भी दावा किया जा रहा है कि किम जोंग उन का ब्रेन डेड हो चुका है और उनकी हालत बेहद गंभीर है। इसी बीच अटकलें तेज हो गई हैं कि उनकी जगह कौन उत्तर कोरिया की कमान संभालेगा। देश में एक नाम जो सबसे ज्यादा चर्चा में है, वह हैं किम की छोटी बहन किम यो जोंग। कोरियन सेंट्रल न्यूज एजेंसी की मानें तो वह अपने भाई की लंबे समय से करीबी सलाहकार रहीं हैं। किम की खराब हालत का संकेत उस वक्त मिल गया था जब पिछले दिनों किम जोंग उन की शक्तिशाली छोटी बहन किम यो जोंग को निर्णय लेने वाले प्रमुख निकाय में फिर से नियुक्त करने का काम किया गया था।