अंग्रेज़ी मीडियम होगी आख़री मूवी, लोगों की दुआओं पर था इरफान को भरोसा

इरफान खान की अंग्रेजी मीडियम मार्च में रिलीज हुई थी। लेकिन कोरोना लॅाकडाउन के कारण ये फिल्म सफल नहीं हो पाई। इस बीच बीते चार साल से इरफान खान कैंसर से जूझ रह थे। विदेश में रहते हुए उन्हें दो दिन पहले ये खबर मिली कि उनकी मां का निधन हो गया है। इरफान खान की मां सईदा बीमारी के कारण इस दुनिया से अलविदा ले चुकी हैं।

इरफान ने कई बार इंटरव्यू में अपनी मां और उनकी दुआओं का जिक्र किया था। इरफान कई बार ये कह चुके थे कि वह अपनी मां के बेहद करीब हैं। लेकिन बीते तीन साल से बीमारी के कारण इरफान अस्पताल में दिन गुजार रहे थे। मां से उनकी मुलाकात केवल फोन और वीडियो कॅाल के जरिए हुआ करती थी। इस बीच उनकी मां ने मौत से पहले एक आखिरी ख्वाहिश जाहिर की थी, जिसे इरफान पूरा नहीं कर पाए।

मां की आख़री ख्वाइश भी नहीं कर पाए पूरी

इरफान खान के 50 वें जन्मदिन के मौके पर उनकी मां ने जयपुर में एक इंटरव्यू दिया था। जहां पर उन्होंने अपनी इच्छा बताई थी। उन्होंने कहा था कि इस जन्मदिन पर अगर इरफान घर आ जाता तो यही मेरे लिए सबसे बड़ा तोहफा होगा। 

इरफान बीमारी की वजह से नहीं मिल सके माँ से

अपनी बामीरी न्यूरोएंडोक्राइन ट्यूमर के कारण इरफान खान अपनी मां से मिलने नहीं जा पाएं। उनकी मां ने ये भी बताया था कि इरफान अपने जन्मदिन पर एक अलग खुशी को लेकर आता था। उसकी फरमाइश होती थी कि कई तरह की चीजें बनाई जाए। वह उन्हें खाकर अपना जन्मदिन मनाता था।

मां सईदा ने भी 25 अप्रैल को दुनिया को अलविदा

मिली जानकारी के मुताबिक इरफान खान की मां सईदा 95 साल की थीं। वह लंबे समय से बीमार चल रही थींं। उन्होंने अपनी अंतिम सांस 25 अप्रैल की शाम को ली। इरफान विदेश में लॅाकडाउन के चलते जयपुर मां के अंतिम दर्शन के लिए नहीं आ पाए। वीडीयो कॉल के माध्यम से ही हुए थे जनाज़े में शरीक़…

तीन साल पहले पता चला बीमारी का

बताया जा रहा है कि वीडियो कॅाल के जरिए इरफान ने अपनी मां के अंतिम दर्शन किए।बता दें कि साल 2017 जून में इरफान को कैंसर का पता चला था। बीते दो साल से वह हाई ग्रेड न्यूरोएंडोक्राइन कैंसर से जूझ रहे थे। बीमारी की जानकारी मिलते ही इरफान न्यूयॅार्क चले गए थे।लंबे समय से फैंस उनके स्वस्थ होकर वापस आने का इंतजार कर रहे थे, पर क़ुदरत को ये नागावर गुज़रा।

इरफान खान ने दिया था बयान सामने

फिलहाल मार्च में अपनी नई फिल्म अंग्रेजी मीडियम के साथ उन्होंने वापसी की। लेकिन कोरोना लॅाकडाउन के कारण उनकी ये फिल्म पर्दे पर से उतर गई। फिर इसे डिजिटल रिलीज किया गया। लेकिन फिल्म को काफी घाटा हुआ है। हाल ही में एक इंटरव्यू में इरफान ने कहा था कि वह अपनी वाइफ के लिए जिंदा रहना चाहते हैं।

बीमारी से अनजान हूँ

इरफान खान ने एक इंटरव्यू में इस सवाल के जवाब में कि आपकी सेहत अब कैसी है? इस पर कहा कि ईमानादारी से कहूं तो मैं अभी कुछ कह नहीं सकता हूं। मुझे सचमुच नहीं पता। कुछ दिन अच्छा महसूस करता हूं तो कुछ दिन बुरा। शोर से दूर जाने का मन करता है।

दुआओं पर ही भरोसा

इरफान खान मुंबई मिरर से बातचीत में इरफान खान ने कहा कि मेरे लिए ये समय रोलर-कोस्टर राइड जैसा रहा है। हम इसमें थोड़ा रोए और ज्यादा हंसे। इन सबके दौरान मैं भयंकर बेचैनी से गुजरा। कहीं ना कहीं मैंने उसे कंट्रोल किया। ऐसा लग रहा था कि आप लगातार अपने साथ हॅापस्कॅाच खेल रहे होंअब मुझे सिर्फ लोगों की दुआओं पर ही भरोसा है..

शान आलम एड.
सहारनपुर