Home ख़बरें जरा हटके खुलेआम प्लास्टिक की गुड़िया को बीमार बच्चा बताकर घूम रहा था कपल

खुलेआम प्लास्टिक की गुड़िया को बीमार बच्चा बताकर घूम रहा था कपल

कॉन्स्टेबल को शक हुआ तो उसने ‘बच्चे’ की हालत देखने के लिए उन्हें रोक लिया। जब उस कॉन्स्टेबल ने चेक किया तो सामने आया कि उस कपल के पास कोई बच्चा नहीं बल्कि एक ‘गुड़िया’ थी


सम्पूर्ण भारत को कोरोना वायरस महामारी से बचाने के लिए देश के प्रधानसेवक द्वारा लोकडाउन किया हुआ है, वहीं कुछ भारतीय ऐसे भी है जो लगातार नियम तोड़कर सड़कों पर निकल रहे हैं। उन लोगो को पुलिस का भी डर नहीं है, उन्हें किसी न किसी बहाने से सड़को पर आना ही है, परंतु ऐसे में पुलिस भी लोगो से पेश आ रही है, फिर भी ये लोग मानने को तैयार नहीं हैं। ताजा मामला आंध्र प्रदेश के विशाखापट्टनम का है, जहां पुलिस ने मेडिकल इमर्जेंसी का बहाना बनाकर बाहर निकले एक कपल को पकड़ा है।


बता दे कि बुधवार को गोपालपट्टनम से एक बच्चे को लेकर आ रहे एक कपल को एनएडी जंक्शन पर रोका गया। उन्होंने पुलिस को बताया कि यह एक मेडिकल इमर्जेंसी है और वे अपने बच्चे को अस्पताल ले जा रहे हैं। इसके बाद एक पुलिसकर्मी ने उन्हें जाने की अनुमति दे दी, लेकिन एक दूसरे कॉन्स्टेबल को शक हुआ तो उसने ‘बच्चे’ की हालत देखने के लिए उन्हें रोक लिया। जब उस कॉन्स्टेबल ने चेक किया तो सामने आया कि उस कपल के पास कोई बच्चा नहीं बल्कि एक ‘गुड़िया’ थी।


कपल ने मानी गलती, तो पुलिस ने छोड़ा इसके बाद पुलिस ने उन्हें लॉकडाउन नियमों को तोड़ने के चलते कार्रवाई करने के लिए डिटेल्स मांगी तो महिला ने कहा कि वे अपने एक बुजुर्ग रिश्तेदार को देखने के लिए जा रहे हैं, जो कि काफी बीमार हैं। इसके बाद पुलिस ने उन्हें चेतावनी दी और जाने दिया। एक पुलिसकर्मी ने कहा, उन्होंने अपनी गलती मान ली थी। उन्होंने गुड़िया इस्तेमाल करने के बारे में इसलिए सोचा क्योंकि आम तौर पर पुलिस किसी को बच्चे के साथ अस्पताल जाने से नहीं रोकती है।

Leave a Reply

Most Popular

आम जनमानस को सीधी मदद की है दरकार!!

आत्मनिर्भर बनाने के लिए भारत सरकार ने 20 लाख करोड़ की राहत एवं पैकेज की घोषणा की है जिससे भारतीय अर्थव्यवस्था को...

क्या पेट सिर्फ गरीब मजदूरों के पास ही होता है?? क्या गरीब बेरोजगार छात्र बिना पेट के पैदा हुए है??

🤔🤔🤔🤔ऐसा लग रहा है कि देश में सिर्फ मजदूर ही रहते हैं….बाकी क्या काजू किसमिस बघार रहे हैं ?🙁

The BROTHER : A “GIFT” to the Heart & a “FRIEND” to the Spirit

“Brothers are like streetlights along the road, they don’t make distance any shorter but they light up the path and make...

प्रतापगढ़ में कृषक कुर्मी परिवार पर हुए बर्बरता पूर्ण कृत्य से भड़का कुर्मी समाज

26 मई 2020 को प्रातः 11:00 बजे सभी कुर्मी समाज जिलाधिकारी कार्यालय पर उपस्थित होकर महामहिम राज्यपाल उत्तर प्रदेश के नाम...

Recent Comments

Click to Hide Advanced Floating Content

COVID-19 INDIA Confirmed:139,049 Death: 4,024 More_Data

COVID-19

Live Data