Home COVID-19 संकट की ये घड़ी कड़ी है

संकट की ये घड़ी कड़ी है

संकट की ये घड़ी कड़ी है,
विपदा जग पर आन पड़ी है।
एकजुट होकर दिखला दो,
मानवता की ओज बड़ी है।।
मंदिर-मस्जिद बंद पड़े है,
ईश्वर भी रूप बदल रहा है।
खाकी पहने सावधान करे,
वो पहन सफेदी लड़ रहा है।।
घर में सुरक्षित हर जन होगा,
ना आपदा को न्यौता दो।
विपत्ति में चाैकों नहीं,
तुम विपत्तियों को चाैका दो।।

Surbhi Singh
Student of D.EL.ED

Krishna College, Bijnor

Leave a Reply

Most Popular

‘‘खुला लॉकडाउन’’ (लॉकडाउन कें बाद का प्रभाव)

खुला लॉकडाउन खुशियाँ आई, बंद कमरे से मुक्तियाँ पाई।अर्से बाद शहर नें ली अंगड़ाई, मोटर गाड़ी दौङ लगाई।।

SP विक्रान्तवीर के दिशानिर्देश पर उन्नाव पुलिस ने तिहरे हत्याकांड का किया खुलासा

दो आरोपी गिरफ्तार जबकि तीसरे आरोपी की गिरफ्तारी के प्रयास जारी रिपोर्ट बाबू सिंह एडवोकेट

समाज को आगे बढ़ाने में प्रयासरत है शिल्पी पटेल

भारतीय संस्कृति सबसे पुरानी संस्कृति रही है, हमारे प्राचीन काल से नारी का स्थान सम्माननीय रहा है और कहा गया है...

कभी अभिमान तो कभी स्वाभिमान है पिता

कभी अभिमान तो कभी स्वाभिमान है पिताकभी धरती तो कभी आसमान है पिताजन्म दिया है अगर माँ ने जानेगा जिससे जग...
Click to Hide Advanced Floating Content

COVID-19 INDIA Confirmed:174,496 Death: 4,983 More_Data

COVID-19

Live Data