हिमाचल प्रदेश को मंदिरों का राज्य कहा जाता है क्योंकि इस राज्य में अनगिनत तीर्थ स्थल हैं। हिंदू धर्म में विश्वास रखने वाले श्रद्धालु सबसे ज्यादा हिमाचल प्रदेश में ही आते है। वैसे तो यहां हजारों अलग-अलग मंदिर है लेकिन आज हम आपको जिस मंदिर के बारे में बताने जा रहे हैं वहां पर सिर्फ 2 दिन की रौनक दिखाई देती है।

हिमाचल प्रदेश की वादियों में मौजूद कमरूनाग बाबा का यह मंदिर सिर्फ दो ही दिनों के लिए सजता है। 14 और 15 जून के दिन यहां पर एक मेले का आयोजन होता है। इस मेले में हिस्सा लेने के लिए भारत भर से हजारों श्रद्धालु यहां पहुंचते हैं और बड़ी मात्रा में चढ़ावा भी आता है। आपको जानकर हैरानी होगी कि श्रद्धालु सोने चांदी के गहने दान करते हैं इसके अलावा श्रद्धालु पैसे भी दान करते हैं। दान की हुई सभी चीजों को झील में डालते हैं।

कमरूनाग बाबा के मंदिर के चारों ओर एक बड़ी झील है। जिसे कमरूनाग झील के नाम से जाना जाता है। इस झील में श्रद्धालु कई 100 साल से पैसे और आभूषण डाल रहे हैं। मंदिर के पुजारी का दावा है कि इस झील में अरबों रुपए का चढ़ावा मौजूद है। कमरूनाग बाबा में लोगों की आस्था इतनी ज्यादा है कि कोई भी यहां आकर झील में से खजाना निकालने की कोशिश नहीं करता।