ढूंढने से अब पहले जैसा,, जहां नहीं मिलता,
मिल जाए नजर पर अब,, दिल नहीं मिलता

अपने घर के हम ही रखवाले सूना छोड़ जाए,
तो वह पहले जैसा पड़ोसी चौकीदार नहीं मिलता

पिज्जा, बर्गर, चाऊमीन की मॉडल दुनिया में,
चूल्हे के स्वादिष्ट पकवानों का स्वाद नहीं मिलता

फेसबुक,व्हाट्सएप,सोशल मीडिया में गुम सभी,
घरों में हंसी ठिठोली का वह वार्तालाप नहीं मिलता

दुनिया में दिखावटी , बनावटी लोगों की कदर ,
सादगी,शालीनता को अब यहां सम्मान नहीं मिलता

वृद्धा आश्रमों में वृद्धों की संख्या बढ़ने लगी ,
उन्हीं के घर में उनके लिए अब स्थान नहीं मिलता

सारी सुख सुविधाएं होते हुए आज के इंसानों,
को संतुष्टि,सुकून,चैन,आराम फिर भी नहीं मिलता

चारों तरफ हर किस्म की गंदगी फैल रही ,
अब यहां पहले जैसा स्वच्छ वातावरण नहीं मिलता

शर्म, लिहाज , बढ़प्पन ,प्यार ,आदर,सत्कार ,
जैसे अच्छे कर्मों का कोई अब काम नहीं मिलता

प्यार उपहारों ,स्पर्श ,दौलत में तराशा जाता,
दिल को दिल से जोड़ने वाला सच्चा प्यार नहीं मिलता

ढूंढने से अब पहले जैसा,, जहां नहीं मिलता,
मिल जाए नजर पर अब,, दिल नहीं मिलता

रेनू गोस्वामी, भोपाल मध्य प्रदेश